Homeपरिदृश्यटॉप स्टोरीक्योंकि हम सबको मिलकर अन्मय को बचाना है.....

क्योंकि हम सबको मिलकर अन्मय को बचाना है…..

spot_img

नई दिल्ली 27 अगस्त ( गणतंत्र भारत के लिए न्यूज़ डेस्क ) :  उत्तर प्रदेश के सुल्तानपुर के रहने वाले सुमित सिंह और उनकी पत्नी अंकिता सिंह ने अपने बच्चे अन्मय की जान बचाने के लिए लगभग असंभव सी लगने वाली चुनौती से दो-दो हाथ करने का फैसला कर लिया है। केवल सात महीने का अन्मय एक ऐसी खतरनाक बीमारी से जूझ रहा है जिसके इलाज़ के लिए 16 करोड़ रुपए के इंजेक्शन की जरूरत है। उसका इलाज नई दिल्ली के सर गंगाराम अस्पताल में चल रहा है। इलाज के लिए समय़-समय पर उसके माता-पिता उसे यहां लेकर आते हैं।

अन्मय को एसएमए नाम की बीमारी है। ये बीमारी मांसपेशियों की है जिसमें वे धीरे-धीरे कमजोर होती जाती है और मरीज कुछ समय में अपने जीवन से हाथ धो बैठता है। इस बीमारी के इलाज के लिए 2.5 मिलियन डॉलर के आसपास की कीमत वाले इंजेक्शन को विदेश से मंगाया जाता है।

अन्मय के पिता सुमित एक बैंक कर्मचारी हैं। उनकी आय इतनी नहीं है कि वे बेटे की इस बीमारी का इलाज करा पाएं लेकिन सुल्तानपुर के लोगों ने उनका हौसला बढ़ाया और अन्मय का इलाज दिल्ली के सर गंगा राम अस्पताल में शुरू हो गया।

अन्मय के इलाज के लिए फंड जुटाने की खातिर एक खाता खोला गया और लोगों की मदद मिलनी भी शुरू हो गई। अपने संसाधनों और उपलब्ध हो रही मदद के आधार पर इलाज तो शुरू हो गय़ा लेकिन खर्च बहुत ज्यादा है और अन्मय को बचाने के लिए मदद के ढेर सारे हाथों की जरूरत है।

अन्मय की मां अंकिता ने गणतंत्र भारत से बातचीत में बताया कि, अन्मय के खाते में जो करीब 16 लाख रुपए आए थे और उसकी मदद से हमने इलाज शुरू कर दिया है। उन्होंने बताया कि लखनऊ से चलने वाले समाचार चैनल भारत समाचार ने अन्मय के बारे में एक खबर चलाई थी उसके बाद फिर से मदद मिलनी शुरू हो गई है। उन्होंने बताया कि संकट की इस घड़ी में लोगों से जो कुछ भी छोटी-बड़ी मदद मिल रही है वो हमारी बहुत बड़ी ताकत है। अंकिता ने कहा कि, अन्मय अब सिर्फ हमारा नहीं बल्कि पूरे सुल्तानपुर, यूपी या ये कहिए कि पूरे देश का बच्चा बन चुका है और हमें उम्मीद है कि ईश्वर भी हमारी मदद करगा। वो अन्मय को हारने नहीं देगा।

अन्मय के पिता सुमित सिंह ने बताया कि, उन्होंने सुल्तानपुर के विधायक और जिलाधिकारी को सरकारी मदद के लिए आवेदन दिया है। वे मदद के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ और स्थानीय सांसद मेनका गांधी से भी गुहार करने वाले हैं। उन्होंने बताया कि सुल्तानपुर से ताल्लुक रखने वाली मशहूर हस्तियों मनोज मुंतशिर और रीतेश रजवाड़ा ने भी अन्मय की मदद करने के साथ सोशल मीडिया पर दूसरे लोगों से अन्मय की मदद के लिए हाथ बढ़ाने की अपील की है।

सोशल मीडिया पर अन्मय की सहायता के लिए # save anamay नाम से ट्विटर और फेसबुक पर एक मुहिम शुरू की गई है। गणतंत्र भारत ने इस खबर की विश्वसनीयता को जांचने के लिए सर गंगाराम अस्पताल से लेकर सुल्तानपुर में अन्मय के माता-पिता तक से संपर्क किया। अन्मय के परिजनों से उनके मोबाइल नंबर 6296731232 पर संपर्क किया जा सकता है।

अन्मय की मदद के लिए बने बैंक खाते के बारे में गणतंत्र भारत इंपेक्ट गुरू की उस इमेज को प्रकाशित कर रहा है जिसमें बीमारी के बारे में विस्तार से समझाते हुए अन्मय के चित्र और मदद के लिए बने बैंक खाते का उल्लेख है।

गणतंत्र भारत आपसे अपील करता है कि मदद के लिए आगे आएं क्योंकि हम सबको मिल कर अन्मय को बचाना है।

फोटो सौजन्य- सोशल मीडिया            

 

Print Friendly, PDF & Email
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -spot_img

Most Popular

- Advertisment -spot_img

Recent Comments