Homeहमारी धऱतीकृषि'नंदिनी' बनाम 'अमूल', 'नंदिनी' बनाम 'मिल्मा'...आखिर ये 'खेल' क्या है...?

‘नंदिनी’ बनाम ‘अमूल’, ‘नंदिनी’ बनाम ‘मिल्मा’…आखिर ये ‘खेल’ क्या है…?

spot_img

बेंगलुरू ( गणतंत्र भारत के लिए टी. राजेश) : कांग्रेस नेता राहुल गांधी चुनाव प्रचार के सिलसिले में कर्नाटक पहुंचे हैं। राज्य के कुछ दूसरे नेताओं के साथ वे जा पहुंचे नंदिनी के एक आउटलेट पर। सभी लोगों ने दूध पिया। उसकी फोटो खिंची और उसे सोशल मीडिया पर जमकर शेयर भी किया गया। आखिर, इस नंदिनी की कहानी है क्या जो आज राज्य की राजनीति में एक नई रंगत की वजह बन गई है ?

नंदिनी कर्नाटक में सहकारी दूध उत्पादक समितियों के दूध ब्रांड का नाम है। ठीक वैसे ही जैसे गुजरात में अमूल, उत्तर प्रदेश में पराग, बिहार में सुधा, राजस्थान में सरस और केरल में मिल्मा आदि हैं।

दूध पर राजनीति की शुरुवात

कर्नाटक में चुनाव सिर पर हैं। इसी दौरान कर्नाटक के बाजार में अमूल के ट्वीट ने दूध के बाजार को सियासी रंग दे दिया। दरअसल, 5 अप्रैल को अमूल ने एक ट्वीट किया और लिखा कि वो बेंगलुरू में दूध और दही उत्पादों की आपूर्ति करेगा। इस ऐलान के बाद कांग्रेस ने बीजेपी पर आरोप लगाया कि वो कर्नाटक की दूध ब्रांड नंदिनी को खत्म करना चाहती है। विवाद काफी बढ़ गया। कर्नाटक में अमूल के खिलाफ लोगों में नाराजगी बढ़ने लगी। कांग्रेस ने कहा कि जब राज्य के पास अपना दूध ब्रांड है तो उसे गुजरात के मिल्क प्रोडक्ट की क्या जरूरत है? कांग्रेस के साथ दूसरे  विपक्षी दलों ने इस मसले को आम लोगों तक ले जाने का फैसला किया और राज्य भर में अमूल का विरोध शुरू हो गया। सोशल मीडिया पर बायकॉट अमूल, गो बैक अमूल जैसे हैशटैग ट्रेंड करने लगे।

विपक्ष के हंगामे के बीच मुख्य़मंत्री बासवराज बोम्मई को मोर्चा संभालना पड़ा। उन्होंने कहा कि उनकी सरकार नंदिनी को देश का नंबर एक ब्रांड बनाने के लिए कृत संकल्प है और कांग्रेस जनबूझ कर मामले को तूल दे रही है।

आपको बता दें कि, कर्नाटक का सबसे बड़ा दूध उत्पाद ब्रांड नंदिनी है जो हर दिन 23 लाख लीटर से अधिक दूध की सप्लाई करता है। बेंगलुरू मार्केट में दूध की खपत की 70 प्रतिशत जरूरत को अकेले नंदिनी पूरा करता है। अमूल के मुकाबले नंदिनी के दूध की कीमतों में भी काफी अंतर है। नंदिनी के एक लीटर दूध की कीमत 39 रुपए है जबकि अमूल टोंड दूध के एक लीटर पैकेट की कीमत 54 रुपए है।

नंदिनी के सामने मिल्मा ने मोर्चा खोला

अमूल से विवाद जारी ही था कि इसी बीच केरल के दूध उत्पाद ब्रांड मिल्मा से नंदिनी का विवाद शुरू हो गया। मिल्मा ने ठीक वही दलील दी जो नंदिनी ने अमूल के लिए दी थी। दरअसल, नंदिनी ने केरल में खुदरा बिक्री के अपने कुछ आउटलेट्स खोले और साथ ही घोषणा कर दी कि वो पूरे केरल राज्य में नंदिनी  के खुदरा बिक्री आउटलेट्स का जाल बिछाने जा रही है। बस यहीं से मिल्मा ने मोर्चा संभाल लिया। मिल्मा ने कहा कि ये सहकार की भावना के विपरीत है और इससे मिल्मा के स्थानीय बाजार को नुकसान होगा। मिल्मा का उत्पादन करने वाली केरल दुग्ध सहकारी समिति से 15 लाख किसान और 3000 से अधिक सहकारी समितियां जुड़ी हुई हैं। केरल दुग्ध सहकारी समिति के अध्यक्ष एम मणि के अनुसार, नंदिनी का ये बर्ताव सहकार के सिद्धांतो को चोट पहुंचाता है और डॉ. वर्गीज कुरियन और त्रिभुवन दास पटेल जैसे पुरोधाओं की सोच के खिलाफ है। मणि ने स्पष्ट किया कि मिल्मा अपने टर्नओवर का 83 प्रतिशत हिस्सा डेयरी किसानों में बांट देता है जबकि बाकी के पैसे का इस्तेमाल प्रोत्साहन योजनाओं और पशुआहार में सब्सिडी पर खर्च किया जाता है। उनका कहना है कि, नंदिनी से हमारी कई लड़ाई नहीं है, केरल में जब भी दूध की किल्लत होती है हम नंदिनी से ही दूध लेते हैं। हमने रोजाना 2 लाख लीटर तक दूध नंदिनी से लिया है, लेकिन हमारे बाजार पर चोट हमारे हितों पर सीधी चोट है।

वे कहते हैं कि आखिर, नंदिनी ने भी अपने बाजार की रक्षा के लिए अमूल के खिलाफ मोर्चा खोला तो हम कैसे गलत हो सकते हैं।

दूध ब्रांड की लड़ाई बन गई सियासी लड़ाई ?

कर्नाटक में चुनावी माहौल है। विपक्षी दलों ने नंदिनी को कर्नाटक की अस्मिता से जोड़ने में देर नहीं की। राज्य में बीजेपी की सरकार है इसलिए गुजरात के ब्रांड अमूल को खदेड़ने की मुहिम एक तरह से दूध ब्रांड के बहाने बीजेपी पर हमला था। लेकिन पेंच फंसा, केरल के मिल्मा से लड़ाई में। मिल्मा ने नंदिनी की दलील को ही कॉपी-पेस्ट करके वापस नंदिनी को थमा दिया। अब मामले को शांत करने की कोशिश जारी है लेकिन फिलहाल, नंदिनी को कर्नाटक की अस्मिता से जोड़ कर विपक्षी दलों ने माहौल को राजनीतिक रूप से गरमा जरूर दिया है और राहुल गांधी ने नंदिनी के आउटलेट पर जाकर कर्नाटक की अस्मिता के सवाल को नई धार देने की एक बार फिर से कोशिश की है।

फोटो सौजन्य़- सोशल मीडिया   

Print Friendly, PDF & Email
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -spot_img

Most Popular

- Advertisment -spot_img

Recent Comments