Homeपरिदृश्यटॉप स्टोरी'युवाओं' पर भारी 'बुजुर्ग'....जानिए, खड़गे की CWC में क्या-क्या है खास...

‘युवाओं’ पर भारी ‘बुजुर्ग’….जानिए, खड़गे की CWC में क्या-क्या है खास…

spot_img

नई दिल्ली (गणतंत्र भारत के लिए लेखराज) : मल्लिकार्जुन खड़गे के कांग्रेस पार्टी का अध्यक्ष निर्वाचित होने के करीब 10 महीनों के बाद नई कांग्रेस कार्यसमिति के गठन का घोषणा की गई है। 39 सदस्यीय नई सीडब्लूसी कई मायनों में खास है। इसमें पार्टी अध्यक्ष के खिलाफ चुनाव लड़ने वाले शशि थरूर, राजस्थान में अशोक गहलोत सरकार के खिलाफ बागी तेवर अपनाने वाले सचिन पायलट, शीर्ष नेतृत्व को आइना दिखाने वाले जी- 23 के सदस्यों को भी शामिल किया गया है। माना जा रहा है कि, नई कार्यसमिति का संयोजन संतुलन और सामर्थ्य के बुनियादी आधार पर किया गया है।

कांग्रेस कार्यसमिति पार्टी के निर्णयों के लिए अधिकृत सर्वोच्च संस्था है। पार्टी की तरफ से जारी  बयान में कहा गया है कि कांग्रेस अध्यक्ष ने कांग्रेस कार्यसमिति का गठन किया है। नई कार्यसमिति में पार्टी अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे के अलावा सोनिया गांधी, राहुल गांधी, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी, एके एंटनी, अंबिका सोनी, मीरा कुमार, दिग्विजय सिंह, पी चिदंबरम, तारिक अनवर, मुकुल वासनिक, आनंद शर्मा, कुमारी शैलजा, रणदीप सिंह सुरजेवाला, अजय माकन के नाम शामिल है। इसके अलावा, इस सूची में, सचिन पायलट, शशि थरूर, पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी और प्रियंका गांधी के नाम भी शामिल हैं।

नई कार्यसमिति में उत्तर पूर्व से आने वाले पार्टी नेता ललथनहवला के अलावा महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री अशोकराव चव्हाण, गइखंगम, एन रघुवीरा रेड्डी, ताम्रध्वज साहू, अभिषेक मनु सिंघवी, सलमान कुर्शीद, जयराम रमेश, जितेंद्र सिंह को भी शामिल किया गया है।  दीपक बाबरिया, जगदीश ठाकोर, जीए मीर, अविनाश पांडे, दीपा दास मुंशी, महेंद्रजीत सिंह मालवीय, गौरव गोगोई, सैयद नसीर हुसैन, कमलेश्वर पटेल और केसी वेणुगोपाल भी नई कार्यसमिति के सदस्य बनाए गए हैं।

स्थाय़ी आमंत्रित सदस्य़

वीरप्पा मोइली, हरीश रावत, पवन कुमार बंसल, मोहन प्रकाश, रमेश चेन्निथला, बी.के. हरिप्रसाद, प्रतिभा सिंह, मनीष तिवारी, तारिक हमीद कर्रा, दीपेंद्र सिंह हुडा, गिरीश राया चोड़ानकर, टी. सुब्बारामी रेड्डी, के राजू, चंद्रकांत हंडोरे, मीनाक्षी नटराजन, फूलो देवी नेताम, दामोदर राजा नरसिम्हा और सुदीप रॉय बर्मन को कार्य समिति में स्थायी आमंत्रित सदस्य के रूप में शामिल किया है।

नई कार्यसमिति से मिले संकेत 

सचिन पायलट को शांत करने की कोशिश : सबसे महत्वपूर्ण बात, कार्यसमिति में राजस्थान में अशोक गहलोत सरकार के खिलाफ बागी तेवर अपनाने वाले सचिन पायलट को शामिल किया जाना है। राजस्थान में अगले कुछ महीनों में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं और सचिन पायलट को कार्य़समिति का सदस्य बना कर उन्हें शांत करने की कोशिश की गई है। सचिन पायलट के बागी तेवरों के चलते उन्हें उपमुख्यमंत्री और राजस्थान कांग्रेस प्रमुख के पद से हटा दिया गया था।

समावेशी चेहरा : नई कार्यसमिति में आनंद शर्मा और शशि थरूर को भी शामिल किया गया है। ये दोनों उन 23 वरिष्ठ कांग्रेस नेताओं में से थे, जिन्होंने पार्टी प्रमुख सोनिया गांधी को पत्र लिखकर पार्टी से जुड़े प्रमुख मुद्दों को उठाया और उनके समाधान की मांग की थी। शशि थरूर ने बाद में मल्लिकार्जुन खड़गे के खिलाफ कांग्रेस अध्यक्ष पद का चुनाव भी लड़ा।

युवाओं पर भारी अनुभव : नई कार्यसमिति में युवाओं के मुकाबले अनुभवी चेहरों को ज्यादा तरजीह दी गई है। हालांकि ये पार्टी की घोषित नीति के उलट है। पार्टी के पहले के बयानों में कहा गया था कि पार्टी की कोशिश युवा नेतृत्व को आगे बढ़ाने की है और कम से कम आधे पदाधिकारी 50 साल से कम उम्र हो ऐसा प्रयास किया जाएगा। दिलचस्प है कि नई कार्यसमिति में सचिन पायलट, गौरव गोगोई और कमलेश्वर पटेल ही वे नेता हैं जिनकी उम्र 50 साल से कम हैं।

प्रियंका को लेकर उहापोह :  उत्तर प्रदेश में अभी दो दिनों पहले ही अजय राय को पार्टी का नया प्रदेश अध्यक्ष बनाया गया है। प्रियंका गांधी के पास पहले से ही राज्य में पार्टी का प्रभार रहा है। अब प्रियंका पार्टी की कार्यसमिति में शामिल हो गई हैं तो क्या उन्हें उत्तर प्रदेश के प्रभारी के दायित्व से मुक्ति दी जाएगी या वे कार्यसमिति में रहते हुए राज्य में पार्टी की प्रभारी बनी रहेंगी, ये अभी स्पष्ट नहीं किया गया है।

फोटो सौजन्य- सोशल मीडिया

 

Print Friendly, PDF & Email
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -spot_img

Most Popular

- Advertisment -spot_img

Recent Comments