Homeपरिदृश्यटॉप स्टोरीमुख्यमंत्री की कुर्सी के अलावा योगी यहां भी ‘बिराजे’....अखिलेश ने कहा, ‘ये...

मुख्यमंत्री की कुर्सी के अलावा योगी यहां भी ‘बिराजे’….अखिलेश ने कहा, ‘ये तो…..’

spot_img

लखनऊ, 19 सितंबर (गणतंत्र भारत के लिए हरीश मिश्र ) : इसे आस्था कहा जाए, भक्ति माना जाए या फिर कुछ और। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ शायद देश के एकलौते ऐसे मुख्यमंत्री हैं जिनके जीते जी उनका मंदिर बनाया गया है और वहां पूजा-आरती भी शुरू हो गई है। मंदिर अयोध्या से कुछ किलोमीटर के फासले पर भरत कुंड के करीब पुरवा गांव में बनाया गया है।

जानकारी के अनुसार, अयोध्या से पुरवा गांव की दूरी लगभग 25 किलोमीटर है। इस मंदिर का निर्माण प्रभाकर मौर्य नाम के एक व्यक्ति ने कराया है। मंदिर का नाम भी योगी आदित्य नाथ के नाम पर ही श्री योगी मंदिर ऱखा गया है। मंदिर में योगी आदित्य नाथ की आदमकद प्रतिमा स्थापित की गई है और रोज सुबह-शाम मंदिर में आरती के अलावा भोग लगाने की व्यवस्था भी की गई है।

प्रभाकर मौर्य खुद को योगी आदित्य नाथ का प्रचारक बताते हैं। उनका कहना है कि, जिस दिन अयोध्या में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राम मंदिर का भूमि पूजन किया गया था उसी दिन इस मंदिर की भी आधारशिला रखी गई थी। ये मंदिर इसी साल सावन के महीने में बनकर तैयार हुआ है।

प्रभाकर का कहना है कि मंदिर उनके संकल्प पूर्ति का साक्षी है। वे कहते हैं कि उनका संकल्प था, जो भी अयोध्या में भगवान राम का भव्य मंदिर बनवाएगा, वे उसका मंदिर बनवाएंगे। प्रभाकर कहते हैं अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण के पीछे योगी आदित्य नाथ का अहम योगदान रहा है। मंदिर में सुबह-शाम पूजा अर्चना की जाती है। साथ ही योगी आदित्यनाथ पर आधारित भजन भी बजते रहते हैं। इस मूर्ति का निर्माण बाराबंकी के एक मूर्तिकार ने किया है।

प्रभाकर मौर्य पेशे से एक यूट्यूबर और योगी प्रचारक हैं। उन्होंने यूपी चुनाव में योगी के समर्थन में कई गाने भी गाए हैं। मौर्य का दावा है कि उनके यूट्यूब चैनल से जो पैसे आते हैं उनसे वे गौ सेवा करते हैं।

अखिलेश यादव ने चुटकी ली

योगी आदित्य नाथ का मंदिर बनाए जाने की खबर पर समाजवादी पार्टी के नेता और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने चुटकी ली है। उन्होंने इस खबर पर प्रतिक्रिया देते हुए एक ट्वीट किया। ये ट्वीट भी कम दिलचस्प नहीं था। इस ट्वीट में उन्होंने योगी आदित्य नाथ के साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भी घसीट लिया लेकिन नाम किसी का नहीं लिया।

अखिलेश यादव ने एक समाचार एजेंसी के ट्वीट का स्क्रीनशॉट शेयर करते हुए लिखा कि, ‘ये तो उनसे भी दो कदम आगे निकले। अब सवाल ये है कि पहले कौन?’  अखिलेश ने परोक्ष तौर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से तुलना करते हुए योगी आदित्यनाथ के लिए तंज कसने के अंदाज में ये बातें कहीं।

आपको बता दें कि, तमिलनाडु के पूर्व मुख्यमंत्री और एआईएडीएमके नेता एमजी रामाचंद्रन के अलावा फिल्म अभिनेता अमिताभ बच्चन और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम पर भी उनके चाहने वालों ने मंदिर बनाए लेकिन वहां पूजा- आरती और भोग जैसी व्यवस्थाएं नहीं रहीं। योगी आदित्य नाथ के नाम पर बना मंदिर इस लिहाज से एकलौता है जहां एक जीते-जागते शख्स की प्रतिमा मंदिर में स्थापित की गई और रोजाना उसकी पूजा –अर्चना भी की जाती है।

फोटो सौजन्य़- सोशल मीडिया

Print Friendly, PDF & Email
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -spot_img

Most Popular

- Advertisment -spot_img

Recent Comments